Ashad ka Ek Din (Hindi) Hardcover by Mohan Rakesh (Author)

हिन्दी नाटक रंगमंच की किसी विशेष परम्परा के साथ अनुस्यूत नहींद है। पाश्चात्य रंगमंच की उपलब्ध्यिाँ ही हमारे सामने हैं। परन्तु न तो हमारा जीवन उन सब उपलब्ध्यिों की माँग करता है, और न ही यह सम्भव प्रतीत होता है कि हम उस रंगशिल्प को व्यापक रूप से ज्यों का त्यों अपने यहाँ प्रतिष्ठित कर दें। हिन्दी रंगमंच के विकास से निस्सन्देह यह अभिप्राय नहीं है कि अत्याधुनिक सुविधाओं से सम्पन्न रंगशालाएँ राजकीय या अर्द्धराजकीय संस्थाओं द्वारा जहाँ-तहाँ बनवा दी जाएँ जिससे वहाँ हिन्दी नाटकों का प्रदर्शन किया जा सके। प्रश्न केवल आर्थिक सुविधा का ही नहीं, एक सांस्कृतिक पूर्तियों और आकाँक्षाओं का प्रतिनिधित्व करना होगा, रंगों और राशियों के हमारे विवेक को व्यक्त करना होगा। हमारे दैनदिन जीवन के राग-रंग को प्रस्तुत करने के लिए, हमारे सम्वेदों और स्पन्दनों को अभिव्यक्त करने के लिए, जिस रंगमंच की आवश्यकता है, वह पाश्चात्य रंगमंच से कहीं भिन्न होगा। इस रंगमंच का रूपविधान नाटकीय प्रयोगां के अभ्यन्तर से जन्म लेगा और समर्थ अभिनेताओं तथा दिग्दर्शकों के हाथों उसका विकास होगा। सम्भव है यह नाटक उन सम्भावनाओं की खोज में कुछ योग दे सके।

 135.00

10 in stock

Qty :
  Ask a Question

SKU: 978-8170284000
Category: Tags: , , , , , , ,

Additional information

Weight 0.256 kg

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Ashad ka Ek Din (Hindi) Hardcover by Mohan Rakesh (Author)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

No more offers for this product!

General Inquiries

There are no inquiries yet.

Related products